ताओ पुरुष की तरह aggressive नहीं है, स्त्री की तरह receptive है.

मातृशक्ति की तरह वह संसार को आपने गर्भ में सम्भाले हुए है और संसार उसके गर्भ में धीरे धीरे बढ़ रहा है। उसी से ऊर्जा ग्रहण करके संसार विकसित हो रहा है। हमारे द्वारा किया गया कोई भी कर्म इसीलिए कोई मायने नहीं रखता है। हम इस संसार रूपी गर्भस्थ शिशु के शरीर में कोई … Continue reading ताओ पुरुष की तरह aggressive नहीं है, स्त्री की तरह receptive है.

तारे ज़मीन पर – Happily divorced after enjoying ‘happy married life’ together.

I tried to express my view on the recent happily separated Bollywood couple Amir and Kiran. My blessings for sending another teaching through their real life.

The great secret-Osho talks on Kabir

Through a story the problems we face due to ego and it becomes like a stone stopping flow of the stream towards God. There are those who realised it, and when they embarked upon the journey by doing simple job with totality and observing nature around them they get enlightened. Just a commitment is needed.

Thank you, with lots of blessings too.

Through this post I tried to highlight the importance of a small act of kindness readers are doing by sharing a post. Not necessarily my posts but any post. All day our acts keep swinging between good and bad ones. When a person get connected with God and filled with Godliness, then such acts are performed.

आज का विचार

संतो की कठिनाई है कि जो पाया है वह इतना अनोखा है कि सबको इसे पाना ही चाहिए और वे सब कहीं और ही व्यस्त हैं। और मनुष्य का भ्रम दोनों के बीच भी मायाजाल को काटने उपाय हो जाता है।