लोग टाइम टेबल ही पढ़ते रहते हैं

ब्रेकेट में मैंने अपने अनुभव के आधार पर उस हिस्से पर और प्रकाश डालने का प्रयत्न किया है ताकि आप ओशो के उँगली के इशारे की तरफ़ नज़र डालें ना कि उँगली की पूजा करने लगें। "लोग बहाने खोजते हैं--न मालूम कितने-कितने! पति कहता है कि पत्नी रोकती है। कौन किसको रोक सका है: कौन … Continue reading लोग टाइम टेबल ही पढ़ते रहते हैं

Dance for peace because we are born on this planet called Earth.

I received an invitation that I wish to extend to all through this post. What I liked is that I will feel as a contributing member to bring peace in this world- it is not only help any one country but every part on this planet that is facing turmoil today. We need to understand … Continue reading Dance for peace because we are born on this planet called Earth.

परमात्मा उपलब्ध है गुरु के बिना – ओशो

परमात्मा उपलब्ध है गुरु के बिना, मगर उपलब्ध हो न सकेगा। जब वह उपलब्ध हो जाएगा तब तुम जानोगे कि हो सकता था। लेकिन वह सदा बाद में। कोलंबस ने अमरीका खोजा। जब तक नहीं खोजा, तो कोई भरोसा नहीं था किसी को; लोग सोचते थे यह गया, यह लौटने वाला नहीं है। क्योंकि यह … Continue reading परमात्मा उपलब्ध है गुरु के बिना – ओशो

वही संपत्ति है जो मृत्यु के पार चली जाए-ओशो

भीतर छुपा है कोहिनूर और भिखारी की तरह जीवन जी रहे हैं। बड़े कोष्ठक में ओशो एक कहानी के संदर्भ में जो कह रहे हैं वह है और छोटे कोष्ठक में मेरे अनुभव से ओशो के प्रवचन पर प्रकाश डाला गया है ताकि आपको बात गहरे बैठ जायँ और आप आज ही से जीवन में … Continue reading वही संपत्ति है जो मृत्यु के पार चली जाए-ओशो

Rational non-duality- nothingness redefined scientifically

Old concept of no duality is redefined through scientific understanding of contemporary technologies.